लव शायरी प्यार भरी शायरी Love Quotes

मेरे वजूद में काश तूम उतर जाओ ,
मैं देखूं आइना और तूम नजर आओ ।
तूम हो सामने और वक्त ठहर जाए ,
और तुम्हें देखते हुए जिंदगी गुज़र जाए।।

जो मैं रूठ जाऊँ तो तु मना लेना ,
कुछ न कहना बस सीने से लगा लेना ।

उदास लम्हों की न कोई याद रखना ,
तूफान में भी अपना वजूद संभाल रखना ।
किसी की ज़िंदगी की ख़ुशी है तू ,
बस यही सोच तु अपना ख्याल रखना ।।

दिल का मौसम कभी तो खुशगवार हो जाये ,
एक पल को ही सही तुम्हें भी मुझसे प्यार हो जाये ।

ये लकीरें ये नसीब ये किस्मत ,
सब फरेब के आईने हैं ।
हाथों में तुम्हारा हाथ होने से ही ,
मुकम्मल ज़िन्दगी के मायने हैं ।।

तुम्हारी दुनिया में हमारी चाहे कोई कीमत ना हो ,
मगर हमारी दुनिया ने तुम्हे रानी का दर्जा दे रखा है ।

फिजा में महकती शाम है तु ,
प्यार का छलकता जाम है तु ।
सीने में छुपाये फिरते हैं तुझे ,
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम है तु ।

ये तो इश्क़ का कोई लोकतंत्र नहीं होता ,
वरना रिश्वत दे के कभी का तुझे अपना बना लेते ।

चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो ,
श्वासों में खुशबू बन कर के बिखर जाते हो ।
कुछ यूँ चला है तुम्हारे प्यार का जादू ,
सोते-जागते हर समय बस तुम ही नजर आते हो ।।

मंजिल भी तु है तलाश भी तु है ,
उम्मीद भी तु है आस भी तु है ।
इश्क भी तु है और जूनून भी तु ही है ,
अहसास तु है और प्यास भी तु ही है ।।

मैने कब तुमसे ज़माने की खुशी माँगी है ,
एक हल्की-सी मेरे लब पर हँसी माँगी है ।
सामने तुमको बिठाकर तुम्हारा दीदार करूँ ,
जी में आता हैं जी भर के तुमको प्यार करूँ।।

तुम्हारे नाम से मोहब्बत की है ,
तुम्हारे एहसास से मोहब्बत की है ।
तूम मेरे पास नहीं फिर भी ,
तुम्हारी याद से मोहब्बत की है ।।

चूमना क्या उन्हें आँखों से लगाना कैसा ,
फूल जो डाल से गिर जाये तो फिर उसको उठाना कैसा ।
अपने ओठों की हरारत से जगाओ मुझको ,
यूँ सदाओं से दम-ए-सुबह फिर जगाना कैसा ।।

जिंदगी बन गये हो तुम मेरी ,
आरजू बन गये हो तुम मेरी ।
ए मेरे खुदा माफ़ कर तु मुझे ,
अब तो बंदगी बन गए हो तुम मेरी ।।

मेरे दिल का कहा मानो बस एक काम कर दो ,
ये एक बेनाम सी मोहब्बत मेरे नाम कर दो ।
मेरे ऊपर एक छोटा सा एहसान और कर दो ,
एक दिन सुबह को मिलो और बैठे-बैठे शाम कर दो ।।

धड़कते हुए दिल का करार है तु ,
इन सजी महफिलों की बहार है तु ।
तरसती हुयी निगाहों का इंतज़ार है तु ,
मेरी इस जिंदगी का पहला प्यार है तु ।।

कुछ यूँ चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो ,
सांसों में मेरी, तुम खुशबु बनके बिखर जाते हो ।
कुछ यूँ चला है तुम्हारे इश्क का जादू मुझ पर ,
सोते-जागते बस तुम ही तुम नजर आते हो ।।

तुम्हारे इश्क का ये कितना हसीन एहसास है ,
लगता है जैसे तूम हर-पल मेरे आस-पास हो ।
मोहब्बत तेरी , अब दीवानगी बन चुकी है मेरी ,
अब जिंदगी की एक ही आरज़ू सिर्फ ओर सिर्फ तेरा साथ हो ।।

वाह रे जिंदगी का खेल भी शतरंज से मज़ेदार निकला ।
हा हा मैं हारा भी तो किससे, अपनी हीं रानी से ।।

रिश्ते किसी से कुछ इस तरह से निभा लो ,
की उसके दिल के सारे गम चुरा लो ।
इतना असर छोड़ दो किसी पर अपना ,
की हर कोई कहे हमें भी अपना बना लो ।।

सुना है कि इश्क की सजा मौत होती है ।
तो लो फिर मार दो हमेँ प्यार करते है, हम आपसे ।।

मेरा हर लम्हा चुराया है आपने ,
आँखों को एक ख्वाब दिखाया आपने ।
हमें ज़िंदगी भले दी किसी और ने ,
पर जीना कैसे प्यार में है सिखाया है आपने ।।

जिन्दगी मे कभी खुद को तन्हा न समझना ,
साथ हूँ मे तुम बस अपने से जुदा न समझना ।
उम्र भर आपसे दोस्ती का जो वायदा किया है ,
अगर जिन्दगी साथ न दे, तो बस आप हमें बेवफा न समझना ।।

होती नहीं है मोहब्बत सूरत से ,
सच्ची मोहब्बत तो हमेशा दिल से होती है ।
सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगने लगती है प्यारी ,
कदर जिनकी इस दिल में होती है ।।

जमाना अगर हम से रूठ भी जाये तो ,
इस बात का हमें कोई गम न होगा ।
मगर आप जो हमसे खफा हो गए तो ,
हम पर इस से बड़ा ओर कोई सितम न होगा।।

Leave a Comment

Your email address will not be published.